कोरोनावायरस अनुशासन का पालन करें ताकि लॉकडाउन लगाने की नौबत ना आए-पीएम मोदी

Moneycontrol.com

पीएम मोदी ने कहा, आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है। मैं राज्यों से भी अनुरोध करूंगा कि वो लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में ही इस्तेमाल करें

देश कोरोना वायरस महामारी से कराह रहा है। देश में कोरोना के इस प्रलय के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना के खिलाफ देश बहुत बड़ी लड़ाई रहा है। उन्होंने कहा कि आपकी पीड़ा का मुझे अहसास है। हमें इस समस्या से पार पाना है। देश मे ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ी है, इसे पूरा करने के लिए ऑक्सीजन के उत्पादन को बढ़ाया जा रहा है। साथ ही अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाई जा रही है।

पीएम ने क्या कहा?
प्रधानमंत्री ने कहा, चुनौतियां बड़ी हैं, लेकिन तैयारियों और संकल्प के साथ पार पाना है।मैं सभी हेल्थ वर्कर्स और कोरोना वॉरियर्स डॉक्टरों, मेडिकल-पैरा मेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस के ड्राइवर, सुरक्षाबल, पुलिसकर्मी सभी की सराहना करूंगा। आपने कोरोना की पहली लहर में भी अपना जीवन दांव पर लगाया था।आज आप फिर इस संकट में अपने परिवार, सुख और चिंताएं छोड़कर दूसरों का जीवन बचाने में दिन-रात जुटे हुए हैं।

वैक्सीनेशन पर अहम फैसला
पीएम मोदी ने कहा, कल ही वैक्सीनेशन को लेकर एक और अहम फैसला लिया गया है। एक मई के बाद से, 18 वर्ष के ऊपर के किसी भी व्यक्ति को वैक्सीनेट किया जा सकेगा। अब भारत में जो वैक्सीन बनेगी, उसका आधा हिस्सा सीधे राज्यों और अस्पतालों को भी मिलेगा।

सभी का जीवन बचाने का प्रयास
पीएम ने कहा, हम सभी का प्रयास, जीवन बचाने के लिए तो है ही, प्रयास ये भी है कि आर्थिक गतिविधियां और आजीविका, कम से कम प्रभावित हों।

वैक्सीनेशन को 18 वर्ष की आयु के ऊपर के लोगों के लिए Open करने से शहरों में जो हमारी वर्कफोर्स है, उसे तेजी से वैक्सीन उपलब्ध होगी।

श्रमिकों का भरोसा बनाए रखें

पीएम मोदी ने कहा, मेरा राज्य प्रशासन से आग्रह है कि वो श्रमिकों का भरोसा जगाए रखें, उनसे आग्रह करें कि वो जहां हैं, वहीं रहें। राज्यों द्वारा दिया गया ये भरोसा उनकी बहुत मदद करेगा कि वो जिस शहर में हैं वहीं पर अगले कुछ दिनों में वैक्सीन भी लगेगी और उनका काम भी बंद नहीं होगा।

कोरोनावायरस प्रोटोकॉल पालन करवाएं
पीएम मोदी ने कहा, मेरा युवा साथियों से अनुरोध है की वो अपनी सोसायटी में, मौहल्ले में, अपार्टमेंट्स में छोटी छोटी कमेटियां बनाकर COVID अनुशासन का पालन करवाने में मदद करे। हम ऐसा करेंगे तो सरकारों को न कंटेनमेंट ज़ोन बनाने की ज़रुरत पड़ेगी, न कर्फ़्यू लगाने की, न लॉकडाउन लगाने की।

पीएम ने कहा, “अपने बाल मित्रों से एक बात विशेष तौर पर कहना चाहता हूं। मेरे बाल मित्र, घर में ऐसा माहौल बनाएं कि बिना काम लो घर से बाहर न निकलें। आपकी जिद बहुत बड़ा परिणाम ला सकती है।”

वैज्ञानिकों ने कड़ी मेहनत से वैक्सीन बनाई है

पीएम ने कहा, हमारे वैज्ञानिकों ने दिन-रात एक करके बहुत कम समय में देशवासियों के लिए वैक्सीन विकसित की हैं। आज दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन भारत में है। भारत की कोल्ड चेन व्यवस्था के अनुकूल वैक्सीन हमारे पास है। पीएम मोदी ने कहा, दुनिया में सबसे तेजी से भारत में पहले 10 करोड़, फिर 11 करोड़ और अब 12 करोड़ वैक्सीन के डोज दिए गए हैं।

माइक्रो कंटेनमेंट ज़ोन पर रखें फोकस
पीएम मोदी ने कहा, आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है। मैं राज्यों से भी अनुरोध करूंगा कि वो लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में ही इस्तेमाल करें। लॉकडाउन से बचने की भरपूर कोशिश करनी है।
और माइक्रो कन्टेनमेंट जोन पर ही ध्यान केंद्रित करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *